ताज़ा रेजगारी

ये जो संसद है, हद है

ये जो इंडिया है
बढि़या है

एक ही कष्ट है
सब भ्रष्ट है

भारतवासी है
सर्दी, खांसी है

योजनाओं में मुद्रा है
इफरात है, खुदरा है
टनों टन है
आवंटन है

ये जो कर्ता है, धर्ता है
जेबें भरता है
मुफत वोट लेता है
डाकू है, नेता है

वो जो घिसता है, पिसता है
गुमनाम आदमी
आलू से सस्ता है
आम आदमी

ये जो काला धन है, मन है
टू इन वन है

कोयला  है किसी पे,
किसी पे चारा है
सब हैं अपराधी,
सब पर धारा है

कानून है, जेल है,
सब फेल है
जेब में रखते हैं,
मज़ाक है, खेल है

खामोश वोटर है
बन्दूक का डर है
ज़ख्महै, घाव है
चुनाव है

अनपढ़ है, निर्दिश्ट है
वोटर लिस्ट है
बुजुर्ग है, यूथ है,
सबके लिये बूथ है,
वोटिंग मशीन है
मदारी है, बीन है

झाड़ है, चना है
सरकारी योजना है
बजट है
सफाचट है

सरकारी बाबू है
खुला सांड है, बेकाबू है

भाजपा है, माकपा है,
कांग्रेस है
क्रिटिकल केस है

सपा है, राजद है
गद्दी है, घमंड है, मद है

ये जो संसद है
हद है

Comments

comments

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz