ताज़ा रेजगारी

एक लड़की जो आपकी प्रेमिका नहीं हो सकी

आपके लाख चाहने के बावजूद
एक लड़की जो आपकी प्रेमिका नहीं हो सकी
एक ऐसे सपने की तरह है
जिसे शायद आप कभी ठीक से नहीं देख पाये
उस नीद की तरह जिसमें आप बेचैन थे
उस चैन की तरह जो सबसे खूबसूरत था
एक यात्रा रास्ता भूली हुई
एक गलती जो जानबूझ के की गई
एक गीत जिसमें दर्द था
एक लहर जो कभी नहीं थमी
एक  ट्रेन  जो दूर से आती दिखी
पर आप तक कभी नहीं पहुंची
एक इत्मिनान जिसे आपने हर पल जिया
एक दुख
जिसे आप सांसों के साथ समेटते रहे अपने भीतर
एक गलतफहमी जिसे आपने पालतू बिल्ली की तरह पाला
एक एसएमएस जो आप पढ़ पाते इससे पहले डिलीट हो गया
एक सम्भावना जो असम्भव के ज्यादा नजदीक थी
एक खयाल जो बस खयाल ही रहा
एक परीक्षा
जिसमें आपने मन लगाकर पढाई तो की
पर कभी पास नहीं हुए
एक नदी जो बहती रही आप देखते रहे,
तैरना चाहा और डूब गये
एक तस्वीर जो कौन्टेक्ट लैंस सी
आपकी आंखों में फिट हो गई
एक अधिकार जो आपका था भी नहीं
और छिन भी गया
एक रहस्य अनभिज्ञ
एक जीवन अधूरा और अनन्त
एक मौत आजीवन……………………….

Comments

comments

Leave a Reply

2 Comments on "एक लड़की जो आपकी प्रेमिका नहीं हो सकी"

Notify of
avatar
Sort by:   newest | oldest | most voted
Shivani Gupta
Guest

ek kaanta jo chubha bhi nhi aur dard de gaya
ek faasla jo chalne par bhi kam na hua..
love u umesh

prabhat
Guest
अपनों के मायने बदलने लगे है……. चढ़ा मै तो सूरज भी ढलने लगे हैमेरी तर्रकी से जलने लगे है बुला लेता अपनों को इस खुशी में,पर अपनों के मायने बदलने लगे है,उठ उठ के अक्सर सोते है वो,आँखों को पानी से धोते है वो,यकीं नहीं उन्हें इस पल पर,आहे भर भर के रोते है वो,बिम्ब निहारते है अक्सर पर,शिरकत-ए-आईने बदलने लगे है,बुला लेता अपनों को इस खुशी मेंपर अपनों के मायने बदलने लगे है,बहुत कोशिशे हराने की की बहुत कोशिशे लड़ाने की कीकाटे बिछाए उन्होंने जब जब मैंनेकोशिशे कदम बढाने की कीकदम मेरे खू से सने देख कर दुश्मन तक… Read more »